लॉगिन चुनें
उत्पाद के प्रकार चुनिये

सब्सिडायरीज़

आप यहाँ हैं :

महिंद्रा फायनांस में, हमारा दृष्टिकोण हमेशा से, अधिक से अधिक ज़िंदगियों को सकारात्मक रुप से प्रभावित करने का है। यही हमें जीवंत रखता है कि हम अपने परिवार का विस्तार करें और ग्राहकों को बेहतर सेवायें और विशेषज्ञता प्रदान करें। महिंद्रा इंश्योरेंस ब्रोकर्स लिमिटेड और महिंद्रा रूरल हाउसिंग फाइनेंस लिमिटेड, हमारे बढ़ते हुये परिवार के दो ऐसे सफल उद्यम हैं जिन्हें अपने परिवार के हिस्से के रुप में पाकर हमें गर्व है।

महिन्द्रा इंश्योरेंस ब्रोकर्स लिमिटेड

महिन्द्रा इंश्योरेंस ब्रोकर्स लिमिटेड (एमआईबीएल) हमारा पूर्ण स्वामित्व वाला उपक्रम है जो हमारे विविध ग्राहक आधार की विभिन्न ज़रूरतों और रिस्क प्रोफाइल के लिए 360o बीमा समाधान उपलब्ध कराती है। एमआईबीएल लगभग 13 लाख खुदरा ग्राहकों के लिए डाइरेक्ट इंश्योरेंस ब्रोकिंग उपलब्ध कराती है और साथ ही बड़ी संख्या में कॉर्पोरेट ग्राहकों को भी सेवा देती है। कम्पनी के पास लाइफ के साथ-साथ नॉन-लाइफ इंश्योरेंस में विभिन्न तरह के प्लान्स हैं।

एमआईबीएल अपने ग्राहकों की बीमा की ज़रूरतों और उनके रिस्क प्रोफाफल को अत्यधिक विस्तृत और व्यवस्थित तरीके से समझते हुए उन्हें सही मूल्य दिलाने के लिये प्रतिबद्ध है, जिससे हमें नवीन, किफायती और व्यक्तिविशेष के लिये उचित बीमा समाधानों को तैयार करने में मदद मिलती है। एमआईबीएल गुणवत्ता के उच्चतम मानदण्डों का पालन करता है जिसके लिये यह भारत की गिनी-चुनी बीमा ब्रोकिंग कम्पनियों में से एक है जिसे क्वालिटी मैनेजमेंट सिस्टम्स के लिए प्रतिष्ठित आईएसओ 9001:2008 सर्टिफिकेशन पुरस्कार से सम्मानित किया गया है।

मई 2004 में एमआईबीएल को इंश्योरेंस रेग्युलेटरी एंड डेवलपमेंट अथॉरिटी (आईआरडीए) द्वारा एक डाइरेक्ट ब्रोकर्स लाइसेंस प्रदान किया गया, जो इसे लाइफ और नॉन-लाइफ बिज़नेस में डाइरेक्ट इंश्योरेंस ब्रोकिंग करने में सक्षम बनाता है। एमआईबीएल ने ग्राहकों को उनकी ज़रूरतों के अनुसार समाधान देने के अपन वादे को पूरा करने के लिए खुद को कई सरकारी व निजीबीमा कम्पनियों के साथ सम्बद्ध भी किया है। सितम्बर 2011 में एमआईबीएल को आईआरडीए की तरफ से कॉम्पोज़िट ब्रोकर लाइसेंस प्रदान किया गया, और इस तरह डाइरेक्ट इंश्योरेंस के साथ साथ इसने रीइंश्योरेंस ब्रोकिंग बिज़नेस के क्षेत्र में भी कदम रखा। एक टोटल इंश्योरेंस रिस्क सॉल्यूशंस प्रदाता के रूप में एमआईबीएल ग्राहकों के रिस्क मैनेजमेंट पोर्टफोलियो में भी एक महत्वपूर्ण भूमिका निभाता है।

हमारा लक्ष्य:

"राजस्व के मामले में 2015 तक भारत में अग्रणी इंश्योरेंस ब्रोकर होना"

 

सामरिक भागीदारी (स्ट्रेटेजिक पार्टनरशिप)

सितंबर २०१२ में, महिंद्रा इंश्योरेन्स ब्रोकर्स लिमिटेड (एमआईबीएल) ने सिंगापुर में संस्थापित लीफफ्रॉग फायनान्शियल इंक्लुजन फंड की सहायक कंपनी, इंक्लुजन रिसोर्सेज प्राइवेट लिमिटेड (आईआरपीएल) तथा अपनी पेरेन्ट कंपनी महिंद्रा एंड महिंद्रा फायनान्शियल सर्विसेस लिमिटेड (एमएमएफएसएल) के साथ भारत के ग्रामीण और अर्द्धशहरी क्षेत्रों के उपभोक्ताओं के लिए कंपनी की सेवाओं में विस्तार के लिए सुनिश्‍चित अनुबंध किए हैं, जिससे कंपनी को आईआरपीएल के अंतराष्ट्रीय ज्ञान और अनुभव का फायदा पाने, ख़ासतौर  से व्यापक मार्केट्स को इंश्योरेन्स के क्षेत्र में कम लागतवाली टेक्नोलॉजी के समाधान दिलाने में मदद मिलेगी . इसके अलावा, आईआरपीएल की दुनिया भर में पुनर्बीमा में विशेषज्ञता तथा इसके साथ संबंध कंपनी को दुनिया विभिन्न रीइंश्योरेन्स के साथ पुनर्बीमा ब्रोकिंग बिजनेस में मदद करेगा.

 लीपङ्ग्रॉग फायनान्शियल इन्क्लुजन फंड दुनिया का पहला और सबसे बड़ा ऐसा निवेशक है जो एशिया तथा अफ्रीका में इस तरह की सेवा से वंचित लोगों को बीमित करता है, और इनके निवेशकों में इंटरनेशनल फायनांस कॉर्पोरेशन (आईएफसी), यूरोपियन इन्वेस्टमेन्ट बैंक (ईआईबी), केएफडब्ल्यू डेव्ल्पमेन्ट बैंक, जर्मनी, एफएमओ डेव्लपमेन्ट बैंक द नीदरलैंड्स आदि हैं. लीफफ्रॉस फायनान्शियल इन्क्लुजन फंड के स्पेशलिस्ट ङ्गोकस बृहत मार्केट इंश्योरेन्स पर है तथा यह ''नेक्स्ट मिलियन'' उभरते मार्केट के उपभोक्ताओं को इंश्योरेन्स सेवाएं देने वाली कंपनियों में निवेश करता है. लीफफ्रॉग फायनान्शियल इन्क्लुजन फंड दो दृष्टि से अलग है, पहली बात यह सामजिक प्रभाव पर केन्द्रित है और दूसरी बात यह इंश्योरेन्स पर केन्द्रित है.  

आपकी कंपनी को इन व्यावसायों के लिए इंश्योरेन्स रेग्युलेटरी एंड डेव्ल्पमेन्ट अथॉरिटी, ङ्गॉरेन इन्वेस्टमेन्ट प्रमोशन बोर्ड तथा भारतीय रिजर्व बैंक से ज़रूरी मंजूरियां मिल चुकी हैं. उपरोक्त के फलस्वरूप, एमआईबीएल अब एसएफएल की ८५% सहायक कंपनी है, आईआरपीएल का एमआईबीएल में १५% हिस्सा है.

महिन्द्रा रूरल हाउसिंग फायनांस लिमिटेड

जिसे हम घर कह सकते हैं, उसे बनाने में कई बार पूरी ज़िंदगी लग जाती है। महिन्द्रा रूरल हाउसिंग फायनांस लिमिटेड (एमआरएचएफएल) का इरादा आपके सपनों के घर के सफर को थोड़ा छोटा बनाना है।

रूरल हाउसिंग के क्षेत्र में सबसे बड़ी फायनांस कम्पनी, एमआरएचएफएल की स्थापना कम खर्च वाले और फ्लैक्सिबिल होम लोन उपलब्ध करा कर ग्रामीण व अर्द्ध शहरी भूदृश्य को परिवर्तित करने के उद्देश्य से की गई है। आवास का निर्माण हो, खरीदना हो, विस्तार या उसकी सुधार कार्य हो, एमआरएचएफएल घर की अधिकांश फायनांस ज़रूरतों के लिए लोन देता है। आज यह सफलतापूर्वक लगभग 1 लाख ग्राहकों की सेवा कर रहा है और महाराष्ट्र, मध्य प्रदेश, राजस्थान, गुजरात, बिहार, आंध्र प्रदेश, कनारटक और केरल में कार्यरत है।

एमआरएचएफएल ग्रामीण भारत में बड़े बदलावों का एक महत्वपूर्ण कारक है। दस्तावेज़ों की कमी के कारण सुदूर गांवों के लोगों को स्थापित वित्तीय संस्थानों से लोन मिलने की उम्मीद बहुत कम होती है और स्थानीय सूदखोरों से कर्ज़ लेना बहुत महंगा साबित होता है। यहीं पर एमआरएचएफएल अपनी भूमिका निभाता है और न्यूनतम दस्तावेज़ों के साथ सरल लोन उपलब्ध कराता है। आज एमआरएचएफएल 17,5000 से भी अधिक गांवों को अपनी सेवा प्रदान करती है।

इसने मिट्टी के कई घरोंदो को पक्का घरों में तब्दील किया है। ऐसे घर जो ईंटों, मोर्टार से बने हैं, खुरदुरे सीमेंट की फ़र्श को टाइल्स लगावा कर चिकना कराया है। संक्षेप में झोपड़ियां घरों में बदल गईं और सपने वास्तविकता में।

एमएमएफएसएल का एक उपक्रम, महिन्द्रा रूरल हाउसिंग फायनांस की स्थापना अप्रैल 9, 2007 को हुई और इसने एक हाउसिंग फायनांस इंस्टीट्‌यूशन के रूप में बिज़नेस शुरू करने के लिए पंजीकरण का प्रमाणपत्र 13 अगस्त, 2007 को नेशनल हाउसिंग बैंक से प्राप्त किया। महिन्द्रा एंड महिन्द्रा फायनांशियल सर्विसेज़ लिमिटेड (एमएमएफएसएल) एमआरएचएफएल की 87.5% इक्विटी धारक है और शेष 12.5% का धारक नेशनल हाउसिंग बैंक है। एनएचबी, भारतीय रिज़र्व बैंक (आरबीआई) का एक पूर्ण स्वामित्व वाला उपक्रम है।   

 

हमारा उद्देश्य:

"ग्रामीण जीवन में परिवर्तन, मिलजुल कर"

Mahindra Trustee Company Private Limited

Mahindra Trustee Company Private Limited, a company incorporated under the Companies Act, 1956, is the trustee for Mahindra Mutual Fund. On our Board of Trustees, we have Mr. Manohar G Bhide -former Chairman and Managing Director of Bank of India, Mr. Narendra Mairpady -former Chairman and Managing Director of Indian Overseas Bank, Mr Gautam G. Parekh - Fellow Member of the Institute of Chartered Accountants of India and Mr. Debabrata Bandyopadhyay - Founder & CEO of Touchstone Consulting. (Click here to view their full profile)

The Trustee Company plays a significant role or overseeing the process and systems applied by the Asset Management Company and it acts in the interest of the investors.

Mahindra Asset Management Company Private Limited (MAMCPL)

Mahindra Asset Management Company Private Limited, a company incorporated under the Companies Act, 1956, is the Investment Manager for Mahindra Mutual Fund. It is a wholly owned subsidiary of Mahindra and Mahindra Financial Services Limited (MMFSL). The Board of Directors of MAMCPL is adorned by Mr. V Ravi – Executive Director and CFO of MMFSL, Mr. Gautam Divan - Fellow Member of the Institute of Chartered Accountants of India (ICAI), Prof. G. Sethu – Dean IIM Trichy and Mr. Ashutosh Bishnoi – MD & CEO, MAMCPL. (Click here to view their full profile.)

Mahindra Finance CSR Foundation

Mahindra Finance CSR Foundation is incorporated as a wholly-owned subsidiary of Mahindra & Mahindra Financial Services Limited on 2nd April, 2019 as a not for profit company limited by shares under Section 8 of the Companies Act, 2013 to inter alia, support, promote and enhance education, employment, vocational skills, and sustainable livelihood, curative and preventive healthcare measures; sanitation and availability of safe drinking water; measures eradicating hunger, poverty and malnutrition; sustainability environmental and ecological balance, etc.

Please rotate your IPAD to Landscape Mode.