लॉगिन चुनें
उत्पाद के प्रकार चुनिये

मैनेजमेंट

आप यहाँ हैं :

महिन्द्रा फायनांस का नेतृत्व अत्यधिक प्रेरित दूरदर्शी लोग करते हैं जो अपने साथ अनुभव और विशेषज्ञता रखते हैं। वे हमारा दिशानिर्देश करते हैं, हमें प्रेरित करते हैं और हमें बढ़ावा देते हैं कि अपनी हदों से आगे जाकर संसाधनों से हर जीवन को सशक्त करें और उनकी आंकाक्षाओं को नकशे पर लाने के हमारे संयुक्त लक्ष्य को पूरा करने की ओर और आगे बढ़ें।

 

  • बोर्ड ऑफ डाइरेक्टर्स
  • डाइरेक्टर्स समिति
  • संचालन समिति

बोर्ड में नौ जाने-माने निदेशक हैं, जो हमारी कम्पनी के संचालन के सामान्य पर्यवेक्षण, निर्देशन और प्रबंधन के प्रभारी हैं। बोर्ड ऑफ डाइरेक्टर्स की प्राथमिक जिम्मेदारियां में इस प्रकार हैः-:

  • कॉर्पोरेट गवर्नेंस के उच्च मानकों और विभिन्न कानूनों के पालन किये जाने को सुनिश्चित करना।
  • हमारे वित्तीय प्रबंधन को देखरेख और बिज़नेस के विभिन्न लाइनों को स्वीकृति देना।
  • हमारी नीतियों और प्रक्रियाओं को आकार देना।
  • हमारे प्रदर्शन की निगरानी करना और विकास की नीति तैयार करना।
  • काउंटर-पार्टी और अन्य विवेकपूर्ण जोखिम प्रबंधन सीमाओं की स्थापना।

बोर्ड ऑफ डाइरेक्टर्स:

  • श्री धनंजय मुंगाले
    अध्यक्ष (स्वतंत्र निदेशक)

  • श्री रमेश अय्यर
    उपाध्यक्ष तथा प्रबंध निदेशक

  • श्री एम.जी. भिड़े
    स्वतंत्र निदेशक

  • श्री पीयूष मांकड़
    स्वतंत्र निदेशक

  • श्रीमती रमा बीजापुरकर
    स्वतंत्र निदेशक

  • Bhave

    श्री सी. बी. भावे
    स्वतंत्र निदेशक

  • Parthasarathy

    श्री वी.एस. पार्थसारथी
    निदेशक

  • Ravi

    श्री वी रवि
    कार्यकारी निदेशक एवं मुख्य वित्तीय अधिकारी

  • AnishShah

    डॉ. अनिश शाह
    निदेशक

  • Designation

श्री भरत दोशी

Mr. Bharat Doshi is the former Chairman of the company Mr. Doshi led the initiative of conceptualizing, establishing and nurturing Mahindra Finance. He joined the Board of Mahindra & Mahindra Financial Services Limited in March 1992. In April 2008, he was elected Chairman of the Board and he stepped down from this position on his nomination as director on the Central Board of Directors of the Reserve Bank of India in March 2016.

Mr. Doshi joined Mahindra & Mahindra Limited (M&M) as an Executive in 1973 and was elevated to the Board of M&M as Executive Director in 1992. In November 2013, he transited from his position of Executive Director & Group CFO to Non-Executive Director. Thereafter, in August 2015, he stepped down from his position of Director of M&M. He also stepped down from his position of Director in Tech Mahindra Limited in July, 2015. He was also on the Board of M&M's Korean subsidiary, SsangYong Motor Company Limited from March 2011 to March 2014.

Mr. Doshi is the Chairman of Mahindra Intertrade Limited.

He is also an Independent Director of Godrej Consumer Products Limited.

Mr. Doshi is also on the Board of Governors of the Mahindra United World College of India, K.C. Mahindra Education Trust and the Mahindra Foundation. He is a Director on the Board of Gateway House : Indian Council on Global Relations, a foreign policy think tank in Mumbai.

Mr. Doshi was on the Board of Governors of the Indian Institute of Management (IIM), Kozikode from 1998 to 2008 and on the Board of Governors of IIM, Tiruchirappalli (Trichy) from 2010 to 2015.

Mr. Doshi holds a Master's degree in Law from Bombay University. He is a -Fellow member of the Institute of Chartered Accountants of India and the Institute of Company Secretaries of India. He has also participated in the Program for Management Development (PMD) at Harvard Business School. He was also a Fellow of the Salzburg Seminar on "Asian Economies: Regional and Global Relationships" held in December 2000.

Mr. Doshi was a member of the High Powered Expert Committee constituted by the Ministry of Finance, Government of India, on Making Mumbai an International Financial Centre. He was a member of the SEBI (Securities and Exchange Board of India) Committee on Disclosures and Accounting Standards (SCODA).

Mr. Doshi was a Member of Reserve Bank of India (RBI) constituted Working Group to examine a range of emerging issues pertaining to regulation of the NBFC (non-banking financial companies) sector. He was also a Member of the RBI constituted Committee on Comprehensive Financial Services for Small Businesses and Low-Income Households (CCFS).

Mr. Doshi has been associated with the Bombay Chamber of Commerce & Industry (BCCI) for over 30 years and served as its President for the year 2009-10.

Mr. Doshi's outstanding career achievements have earned him several accolades. He was adjudged "India's Best CFO" by Business Today (India Today Group Publication) in April 2005. He was also conferred the CFO of the Year Award for financial excellence by IMA India, an associate of The Economist Group, in December 2005. In November 2007, Mr. Doshi was honoured with the CNBC CFO of the Year Award. In March 2011, he was inducted by CFO India as a Founding Member to the CFO Hall of Fame in recognition of an exemplary career and a lifetime of contribution to the field of Finance. In February 2013, Mr. Doshi was awarded the CA Business Achiever – Corporate award by ICAI for his exceptional performance and achievements in the sphere of business.

Mr. Doshi's other interests include teaching, reading, and chess. He lives in Mumbai with his wife, who is a consulting physician.

श्री रमेश अय्यर

श्री रमेश अय्यर 30 अप्रैल, 2001 से कम्पनी के प्रबंध निदेशक रहे हैं और शुरुआत से ही हमसे जुड़े हुए हैं। बिज़नेस डेवलपमेंट, फायनांस और मार्केटिंग से संबंधित मामलों में वे अनुभवों की खान हैं। श्री अय्यर एम एंड एम, होल्डिंग कम्पनी के ग्रुप एक्ज़िक्यूटिव बोर्ड के भी सदस्य हैं और महिन्द्रा समूह की विभिन्न कम्पनियों के बोर्ड में हैं। कॉमर्स में उनके पास स्नातक की डिग्री है और बिज़नेस ऍडमिनिस्ट्रेशन में स्नातकोत्तर किया है।

श्री अय्यर बॉम्बे चेम्बर ऑफ कॉमर्स एंड इंडस्ट्री की बैंकिंग एंड फायनांस कमिटी के, फायनांस डिस्ट्री डेवलपमेंट काउंसिल (एफआईडीसी) की कोर कमिटी के और फेडरेशन ऑफ इंडियन चेम्बर्स ऑफ कॉमर्स एंड इंडस्ट्री (फिक्की) के एनबीएफसी के टास्क फोर्स के सदस्य हैं। सोसाइटी ऑफ इंडियन ऑटोमोबाइल मैन्युफैक्चरर्स (एसआईएएम) द्वारा गठित काउंसिल ऑफ इकनॉमिक अफेयर्स के ग्रुप ऑन फायनांस एंड लीज़िंग एंड इंश्योरेंस के सह-अध्यक्ष भी हैं।

श्री अय्यर का एक यशस्वी कैरियर है जिसमें उन्होंने कई पुरस्कार व सम्मान जीते हैं। कॉर्पोरेट लीडरशिप के लिए उन्होंने इंडियन अचीवर्स फोरम का इंडियन अचीवर्स अवॉर्ड जीता है। इंस्टीट्यूट ऑफ इकनॉमिक स्टडीज़, नई दिल्ली द्वारा बिज़नेस लीडरशिप अवॉर्ड भी उन्हें दिया गया। इम्प्लॉयर ब्रांडिंग इंस्टीट्यूट, सीएमओ एशिया द्वारा, अपने स्ट्रैटेजिक पार्टनर सीएमओ काउंसिल के साथ, श्री अय्यर को "सीईओ विथ एचआर ओरिएंटेशन' पुरस्कार से नवाज़ कर उनके नेतृत्व के गुणों को सराहा गया। इसके अलावा इंस्टीट्यूट ऑफ इकनॉमिक स्टडीज़, नई दिल्ली की तरफ से उद्योग रत्न पुरस्कार दिया गया, काउंसिल फॉर इकनॉमिक ग्रोथ एंड रिसर्च, पुणे की ओर से राष्ट्रीय उद्योग प्रतिभा पुरस्कार, और नेशनल एड्यूकेशन एंड ह्यूमन रिकोर्स डेवलपमेंट आर्गनाइज़ेशन, मुम्बई की ओर से भारतीय उद्योग रत्न पुरस्कार दिया गया।

और इतना ही नहीं, श्री रमेश अय्यर को बिज़नेस वर्ल्ड ने भारत के मोस्ट वैल्यूएबल सीईओ पर अपनी विशेष रिपोर्ट में भी स्थान दिया है। उन्हें मिड-साइज़्ड कम्पनी (राजस्व: रु. 1,000-3,000) श्रेणी की सूची में एक साल के प्रदर्शन के साधार पर 65 में से पाँचवे स्थान पर और उसी श्रेणी में 65 में छठे स्थान पर रखा गया। कम्पनी के 5 साल के प्रदर्शन के आधार पर उन्हें 100 में से बीसवें स्थान पर और वित्तीय क्षेत्र की रैंकिंग के आधार पर 12 में तीसरे स्थान पर रखा गया।

श्री धनंजय मुंगाले

श्री मुंगाले इंस्टीट्यूट ऑफ चार्टर्ड अकाउंटेंट्स ऑफ इंडिया के सदस्य और मुम्बई विश्वविद्यालय से कॉमर्स एंड लॉ में स्नातक हैं। अपने जीवन का लम्बा हिस्सा उन्होंने भारत व यूरोप में कॉर्पोरेट व इन्वेस्टमेंट बैंकिंग में कैरियर में बिताया है। वे वाइस प्रेसिडेंट- प्राइवेट बैंकिंग, बैंक ऑफ अमेरिका थे और वे एक्ज़िक्यूटिव कमिटी, डीएसपी मेरिल लिंच लिमिटेड के सदस्य भी थे। वर्तमान में वे भारत व यूरोप दोनों जगह विभिन्न कॉर्पोरेशनों के सलाहकार हैं। वे विभिन्न सरकारी व निजी लिमिटेड कम्पनियों के बोर्डों पर भी चुने गये हैं। वे ऑक्सफोर्ड सेंटर फॉर हिन्दू स्टडीज़, ऑक्सफोर्ड, यू. के. के डेवलपमेंट काउंसिल के सदस्य हैं और नेशनल कमिटी ऑफ महिन्द्रा युनाइटेड वर्ल्ड कॉलेज के सदस्य हैं।

श्री एम. जी. भिड़े

श्री एम. जी. भिड़े इंडियन इंस्टीट्यूट ऑफ बैंकर्स के एक सर्टिफाइड एसोसिएट हैं और मुम्बई युनिवर्सिटी से कला में स्नातकोत्तर की डिग्रीधारक हैं। वे बैंक ऑफ इंडिया के अध्यक्ष व प्रबंध निदेशक और स्टेट बैंक ऑफ इंडिया के प्रबंध निदेशक और ग्रुप एक्ज़िक्यूटिव (नेशनल बैंकिंग) भी थे। वे आरबीआई द्वारा गठित विभिन्न समितियों में भी रह चुके हैं। वर्तमान में वे एक्ज़िक्यूटिव कमिटी - करेंसी डेरिवेटिव्स सेग्मेंट, एनएसई के सदस्य हैं। वे जे. पी. मॉर्गन सिक्यॉरिटीज़ इंडिया प्राइवेट लिमिटेड, महिन्द्रा शुभलाभ सर्विसेज़ लिमिटेड, इंडिया फर्स्ट लाइफ इंश्योरेंस कम्पनी लिमिटेड और तलवल्कर्स बेटर वैल्यू फिटनेस लिमिटेड के बोर्ड पर भी है।

श्री पीयूष जी मांकड़

श्री पीयूष जी मांकड़, ने दिल्ली विश्वविद्यालय से ह्यूमैनिटीज़ में स्नातक व स्नातकोत्तर डिग्री ली है। फिर उन्होंने कैम्ब्रिज युनिवर्सिटी, यू. के. से डेवलपमेंट स्टडीज़ में डिप्लोमा लिया। उसके बाद वे 1964 में प्रतिष्ठित भारतीय प्रशासनिक सेवा में शामिल हुए। इसके बाद कई प्रमुख सरकारी पोस्टिंग में कंट्रोलर ऑफ कैपिटल इश्यूज़, वित्त मंत्रालय, भारत सरकार, प्रधान वित्त सचिव, मध्य प्रदेश सरकार, उद्योग मंत्रालय में सचिव, भारत सरकार, और विदेशी निवेश विकास बोर्ड में अध्यक्ष, सचिव सूचना एवं प्रसारण व वित्त/राजस्व सचिव, भारत सरकार रहे हैं।

उनकी विदेशी नियुक्तियों में काउंसलर-इकनॉमिक, एम्बेसी ऑफ इंडिया, टोक्यो (1977-81), एक्ज़िक्यूटिव डाइरेक्टर फॉर इंडिया, भूटान, बांग्लादेश, लाओस और ताजिकिस्तान, और एशियन डेवलपमेंट बैंक, मनीला (2001-04) के सदस्य रहे हैं।

वर्तमान में वे निजी क्षेत्र की कई हाई प्रोफाइल कम्पनियों के बोर्ड ऑफ डाइरेक्टर्स में स्वतंत्र निदेशक की हैसियत से हैं और कई गवर्निंग बॉडीज़/ट्रस्ट के हिस्सा भी हैं जिनमें आर्मी ग्रुप इंश्योरेंस फंड, सोसाइटी फॉर कैपिटल मार्केट डेवलपमेंट एंड रिसर्च तथा लेडी श्रीराम कॉलेज फॉर वीमेन, नई दिल्ली शामिल है। समय-समय पर वे की सरकारी समितियों में भी होते हैं और वर्तमान में पब्लिक सैक्टर एंटरप्राईजिज़ पर गॉवर्नमैंट ऑफ इंडिया टास्क फोर्स के अध्यक्ष हैं।

सुश्री रमा बीजापुरकर

सुश्री रमा बीजापुरकर ने विज्ञान (ऑनर्स) में स्नातक की डिग्री ली है और मिरांडा हाऊस, दिल्ली विश्वविद्यालय से भौतिकी में डिग्री ली है। इंडियन इंस्टीट्यूट ऑफ मैनेजमेंट, अहमदाबाद से उन्होंने मैनेजमेंट में पोस्ट ग्रैज्युएट डिप्लोमा लिया है जहां आज वे बोर्ड ऑफ गवनर्स की एक सक्रिय सदस्य के साथ-साथ एक विज़िंटिंग फैकल्टी भी हैं। उन्हें एक स्वतंत्र मार्केट स्ट्रैटेजी कंसल्टेंट हैं और विज्ञापन, मार्केटिंग व कंसल्टेंसी उद्योग में 30 वर्ष का अनुभव है। अतीत में वे मैकिंजी एंड कम्पनी, ए सी नेल्सन इंडिया से जुड़ी रही हैं और हिंदुस्तान यूनीलीवर लिमिटेड के साथ पूर्णकालिक सलाहकार के रूप में काम किया है। उभरते हुए बाज़ार और उपभोक्ता संबंधी मुद्दों पर उनके कई प्रकाशन हैं और उन्होंने "विनिंग इन द इंडियन मार्केट-अंडरस्टैंडिंग द ट्रांसफॉर्मेशन ऑफ कंज़्यूमर इंडिया' नामक पुस्तक भी लिखी है।

वर्तमान में सुश्री बीजापुरकर कई प्रतिष्ठित कम्पनियों के बोर्ड में स्वतंत्र निदेशक हैं।

Mr. C. B. Bhave

Mr. C. B. BhaveMr. Chandrashekhar Bhave started his career in the Indian Administrative Service (IAS) in 1975 after completing his bachelor's degree in Electrical Engineering. He worked in different positions in the Central and State Governments and also won awards from the Government of Maharashtra for his outstanding work in the area of family welfare and excellence in administration. He then worked in Securities and Exchange Board of India (SEBI) as a Senior Executive Director from 1992–1996, helping create the regulatory infrastructure for Indian capital markets.

Mr. Bhave then took voluntary retirement from the IAS to set up the National Securities Depository Limited (NSDL) in 1996 and was its Chairman and Managing Director from 1996 to 2008. Mr. Bhave was the Chairman of SEBI, India's capital markets regulator, from 2008 to 2011. He was also the Chairman of the Asia-Pacific Regional Committee and a member of the Technical and the Executive Committees of the International Organisation of Securities Commissions (IOSCO), over this period.

Mr. Bhave has several professional affiliations that include:

  • Member of the Board of the Public Interest Oversight Board (PIOB), Madrid which supervises the work of the standard-setting bodies of the International Federation of Accountants from the perspective of public interest.
  • Member of the City of London Advisory Council for India.
  • Trustee of the IFRS Foundation, London that oversees the International Accounting Standards Board.

Mr. Bhave is the Non-Executive Chairman of Indian Institute for Human Settlements (IIHS) a non-profit organisation established for the purpose of creating and disseminating knowledge related to human settlements in the context of urban areas.

श्री वी.एस. पार्थसारथी

श्री वी. एस. पार्थसारथी बहुआयामी चिंतनशील इंसान हैं और एक ग्लोबल लीडर हैं. महिंद्रा एंड महिंद्रा लिमिटेड (एम एंड एम) के सीएफओ तथा ग्रुप सीआईओ के रूप में भूमिका निभाते हुए वे महिंद्रा ग्रुप को दुनिया के शीर्ष 50 सर्वाधिक प्रशंसनीय ब्रांड्स में स्थान दिलाने के स्वप्न को साकार करने में सहायक रहे हैं. वे महिंद्रा ग्रुप के सुपरवाइज़री बोर्ड के थिंक टैंक का सदस्य हैं जिसे ''ग्रुप एक्जिक्यूटिव बोर्ड'' कहा जाता है. वे ग्रुप की 13 कंपनियों के बोर्ड पर हैं. और साथ ही सीआईएससीओ के ग्लोबल आईटी कस्टमर एड्‍वाइजरी बोर्ड तथा एचपी के एपीजे कस्टमर एड्वाइजरी बोर्ड पर भी हैं.

श्री पार्थसारथी ने मोदी झेरॉक्स के साथ मैनेजमेंट ट्रेनी के रूप में अपने करियर की शुरुआत की और 2000 में महिंद्रा एंड महिंद्रा के साथ ज़ुडने से पहले वे झेरॉक्स के असोसिएट डायरेक्टर थे. एम एंड एम में उन्होंने सीएफओ-एम एंड एम के रूप में नियुक्‍त होने से पहले फायनांस, एचआर, एम एंड ए, आईटी तथा इंटरनेशनल ऑपरेशन्स जैसे फंक्शन्स का नेतृत्व किया

उन्होंने फायनांस, एम एंड ए तथा आईटी के क्षेत्र में कई सम्मान और प्रशस्तियाँ प्राप्‍त की हैं; इनमें से कुछ उल्लेखनीय पुरस्कार हैं :

  • सीएफओ के नाते
    • 2014 में सीएफओ इंडिया की ओर से सीएफओ हॉल ऑफ फेम फायनांस के संसार में आजीवन योगदान देने के लिए
    • 'सीएफओ ऑफ द इयर' 2013 अवॉर्ड-इंटरनेशनल मार्केट असेसमेंट (आईएमए) की ओर से
    • कॉर्पोरेट एक्सिलेंस अवॉर्ड्स द्वारा बेस्ट सीएफओ ऑफ इंडिया का सम्मान
    • 'ट्रेज़री ट्रांसफॉर्मेशन' के लिए इनोवेशन एंड एक्सिलेंस अवॉर्ड टीएमआई की ओर से
  • ग्रुप सीआईओ के रूप में
    • ग्लोबल सीआईओ-हॉल ऑफ फेम 2012 इंफॉर्मेशन वीक द्वारा
    • सीआईओ 100-लगातार 4 साल तक पुरस्कार जीतने के बाद सीआईओ द्वारा हॉल ऑफ फेम
  • मर्जर्स और एक्विजिशन के प्रमुख के रूप में
    • एम एंड ए के ज़रिए र्स्धात्मकता बढ़ाने में बेस्ट सीएफओ अवॉर्ड-2012 बिज़नेस टुडे/यस बैंक द्वारा
    • सीसीएच वोल्टर्स और क्लूवर द्वारा ग्लोबल एम एंड ए स्ट्रैटेजी का सम्मान

श्री पार्थसारथी ने कॉमर्स में बैचलर डिग्री हासिल की है और वे इंस्टीट्यूट ऑफ चार्टर्ड अकाउंटेंट्स ऑफ इंडिया के मानद सदस्य हैं. वे एडवांस्ड मैनेजमेंट प्रोग्राम-बैच 2011 के हार्वर्ड एल्युम्नाय रहे हैं. वे हार्वर्ड बिज़नेस स्कूल द्वारा सुलभ कराए गए ग्रुप स्ट्रैटेजी डेवलपमेंट के लिए महिंद्रा ग्रुप के सीनियर मैनेजमेंट टीम का हिस्सा भी रहे हैं.

श्री वी रवि

Mr. V. RaviMr. V. Ravi is the Executive Director & Chief Financial Officer of the Company and has been has been associated with the Company since its inception. Mr. V. Ravi is a Chartered and Cost Accountant.

Mr. V. Ravi has served with Mahindra Ugine Steel Company (MUSCO) for 9 years in Treasury, Finance and Diversification Projects prior to his induction in Mahindra & Mahindra Financial Services Limited way back in 1994.

Mr. Ravi is on the Boards of Mahindra Insurance Brokers Limited, Mahindra Rural Housing Finance Limited and Mahindra Asset Management Company Private Limited, Subsidiaries of the Company, Mahindra Finance USA LLC, the Joint Venture Company and Mahindra Solar One Private Limited.

Mr. V. Ravi is also on the following committees :

  • Member of the Finance Industry Development Council.
  • Member of Corporate Finance Committee of Federation of Indian Chambers of Commerce & Industry.
  • Member of the Capital Markets Group of Banking, Finance & Economics Committee of the Bombay Chamber of Commerce and Industry.

He has also been a member of the Asia Council of the Conference Board, USA and the Informal Advisory Group of the Reserve Bank of India.

Mr. V. Ravi has received many accolades and recognitions in the field of Finance and Technology. He was awarded the "CFO 100 Roll of Honour 2014" award in the category – Winning Edge in Raising Capital/Fund Management – Revenues above Rs. 1,000 Crores' in the year 2014. He was also awarded the "CFO100 League of Excellence 2015" award by CFO 100 in the year 2015.

Dr. Anish Shah

Anish ShahDr. Anish Shah is the Group President (Strategy) for the Mahindra Group. His key focus areas are strategy development and implementation, building capabilities such as digitisation and analytics, driving international growth especially in the US and Africa. The Group Strategy office also leads Risk Management and Performance Review, plus enables synergies across Group companies.

Prior to joining Mahindra & Mahindra in 2014, Dr. Anish Shah was President and CEO of GE Capital India, where he led the transformation of the business, including a turnaround of its SBI Card joint venture. His career at GE spanned 14 years. As Director, Global Mortgage, he worked across more than thirty countries to drive growth and manage risk, and as Senior Vice President (Marketing and Product Development) at GE Mortgage Insurance, he led various growth initiatives and played a key role in preparing the business for an IPO, as a spinoff from GE. Dr. Anish Shah also received GE's prestigious Lewis Latimer Award for outstanding utilization of Six Sigma in developing a "Digital Cockpit." Before GE, Dr. Anish Shah worked at Bank of America, Bain & Company, and Citibank.

Dr. Shah holds a PhD from Carnegie Mellon's Tepper School of Business where his doctoral thesis was in the field of corporate governance. He also received a Master's degree from Carnegie Mellon, and a post-graduate diploma in Management from the Indian Institute of Management, Ahmedabad.

श्री रमेश अय्यर

श्री रमेश अय्यर 30 अप्रैल, 2001 से कम्पनी के प्रबंध निदेशक रहे हैं और शुरुआत से ही हमसे जुड़े हुए हैं। बिज़नेस डेवलपमेंट, फायनांस और मार्केटिंग से संबंधित मामलों में वे अनुभवों की खान हैं। श्री अय्यर एम एंड एम, होल्डिंग कम्पनी के ग्रुप एक्ज़िक्यूटिव बोर्ड के भी सदस्य हैं और महिन्द्रा समूह की विभिन्न कम्पनियों के बोर्ड में हैं। कॉमर्स में उनके पास स्नातक की डिग्री है और बिज़नेस ऍडमिनिस्ट्रेशन में स्नातकोत्तर किया है।

श्री अय्यर बॉम्बे चेम्बर ऑफ कॉमर्स एंड इंडस्ट्री की बैंकिंग एंड फायनांस कमिटी के, फायनांस डिस्ट्री डेवलपमेंट काउंसिल (एफआईडीसी) की कोर कमिटी के और फेडरेशन ऑफ इंडियन चेम्बर्स ऑफ कॉमर्स एंड इंडस्ट्री (फिक्की) के एनबीएफसी के टास्क फोर्स के सदस्य हैं। सोसाइटी ऑफ इंडियन ऑटोमोबाइल मैन्युफैक्चरर्स (एसआईएएम) द्वारा गठित काउंसिल ऑफ इकनॉमिक अफेयर्स के ग्रुप ऑन फायनांस एंड लीज़िंग एंड इंश्योरेंस के सह-अध्यक्ष भी हैं।

श्री अय्यर का एक यशस्वी कैरियर है जिसमें उन्होंने कई पुरस्कार व सम्मान जीते हैं। कॉर्पोरेट लीडरशिप के लिए उन्होंने इंडियन अचीवर्स फोरम का इंडियन अचीवर्स अवॉर्ड जीता है। इंस्टीट्यूट ऑफ इकनॉमिक स्टडीज़, नई दिल्ली द्वारा बिज़नेस लीडरशिप अवॉर्ड भी उन्हें दिया गया। इम्प्लॉयर ब्रांडिंग इंस्टीट्यूट, सीएमओ एशिया द्वारा, अपने स्ट्रैटेजिक पार्टनर सीएमओ काउंसिल के साथ, श्री अय्यर को "सीईओ विथ एचआर ओरिएंटेशन' पुरस्कार से नवाज़ कर उनके नेतृत्व के गुणों को सराहा गया। इसके अलावा इंस्टीट्यूट ऑफ इकनॉमिक स्टडीज़, नई दिल्ली की तरफ से उद्योग रत्न पुरस्कार दिया गया, काउंसिल फॉर इकनॉमिक ग्रोथ एंड रिसर्च, पुणे की ओर से राष्ट्रीय उद्योग प्रतिभा पुरस्कार, और नेशनल एड्यूकेशन एंड ह्यूमन रिकोर्स डेवलपमेंट आर्गनाइज़ेशन, मुम्बई की ओर से भारतीय उद्योग रत्न पुरस्कार दिया गया।

और इतना ही नहीं, श्री रमेश अय्यर को बिज़नेस वर्ल्ड ने भारत के मोस्ट वैल्यूएबल सीईओ पर अपनी विशेष रिपोर्ट में भी स्थान दिया है। उन्हें मिड-साइज़्ड कम्पनी (राजस्व: रु. 1,000-3,000) श्रेणी की सूची में एक साल के प्रदर्शन के साधार पर 65 में से पाँचवे स्थान पर और उसी श्रेणी में 65 में छठे स्थान पर रखा गया। कम्पनी के 5 साल के प्रदर्शन के आधार पर उन्हें 100 में से बीसवें स्थान पर और वित्तीय क्षेत्र की रैंकिंग के आधार पर 12 में तीसरे स्थान पर रखा गया।

श्री वी. रवि

श्री वी. रवि कम्पनी की शुरुआत से ही इससे जुड़े हुए हैं। श्री रवि महिन्द्रा समूह की अन्य कम्पनियों जैसे महिन्द्रा रूरल हाउसिंग फायनांस लिमिटेड, महिन्द्रा बिज़नेस एंड कंसल्ंटिग सर्विसेज़ प्राइवेट लिमिटेड व महिन्द्रा फायनांस यूएसए एलएलसी के बोर्ड पर भी हैं।

महिन्द्रा एंड महिन्द्रा फायनांशियल सर्विसेज़ लिमिटेड में आने सो पहले, श्री रवि 9 वर्षों तक महिन्द्रा यूजीन स्टील कम्पनी (मस्को) में ट्रेज़री, फायनांस व डायवर्सिफिकेशन प्रोजेक्ट से जुड़े रहे।

श्री रवि कॉर्पोरेट फायनांस पर फिक्की कमिटी के सदस्य हैं. वे एशिया काउंसिल ऑफ द कांफ्रेंस बोर्ड, यूएसए और रिज़र्व बैंक ऑफ इंडिया के इन्फॉर्मल ऍडवाइजरी ग्रुप के भी सदस्य रह चुके हैं।

श्री विनय देशपांडे

श्री देशपांडे सिम्बायसिस इंस्टीट्यूट ऑफ बिज़नेस मैनेजमेंट, पुणे से एक योग्य एचआर प्रोफेशनल हैं जहां से उन्होंने अपना एमबीए पूरा किया। वे अपने साथ 29 वर्षों का अनुभव लाये हैं और वे एचआर के सभी पहलुओं में निपुण हैं।

अपने कैरियर के शुरुआती दौर में वे भारतीय ब्लू चिप के साथ साथ एसीसी, एलएंडटी, रिलायंस, हैक्स्ट इंडिया, व बेयर इंडिया जैसे बहुराष्ट्रीय कम्पनियों के साथ जुड़े रहे।

वे सोसाइटी फॉर ह्यूमन रिसोर्सेस मैनेजमेंट (एसएचआरएम) और अमेरिकन सोसाइटी फॉर ट्रेनिंग एंड डेवलपमेंट (एएसटीडी) और नेशनल एचआरडी नेटवर्क के सदस्य हैं। वे महिन्द्रा बिज़नेस कंसल्टिंग सर्विसेज़ प्रा. लि., माइंडक्रेस्ट इंडिया प्रा. लि. और महिन्द्रा बीपीओ सर्विसेज़ प्रा. लि. के बोर्ड में निदेशक भी हैं।

श्री आर. बालाजी

श्री आर. बालाजी महिन्द्रा एंड महिन्द्रा फायनांशियल सर्विसेज़ लिमिटेड के वाइस प्रेसिडेंट- मार्केटिंग एंड स्ट्रैटेजी हैं। श्री बालाजी एक मैनेजमेंट प्रोफेशनल हैं जिन्हें स्ट्रैटेजी, मार्केटिंग व सेल्स में 17 वर्षों का अनुभव है। श्री बालाजी 2008 से कम्पनी से जुड़े हैं और उन्होंने कई चुनौतीपूर्ण परियोजनाओं का नेतृत्व किया है।

इंडियन इंस्टीट्यूट ऑफ टेक्नॉलजी, मद्रास से बैचलर ऑफ टेक्नॉलजी (बी.टेक) डिग्री धारक श्री बालाजी ने अपना पोस्ट ग्रैजुएशन इंडियन इंस्टीट्यूट ऑफ मैनेजमेंट, कलकत्ता से मार्केटिंग व फायनांस में विशिष्टता के साथ किया है।

इससे पहले, श्री बालाजी महिन्द्रा एंड महिन्द्रा में जनरल मैनेजर-कॉर्पोरेट स्ट्रैटेजी थे। उन्होंने नेस्ले में ब्रांड र्फ्रैंचाइज़ मैनेजर और ऍग्रो टेक फूड्स में सीनियर ब्रांड मैनेजर के रूप में काम किया है।

श्री अनुज मेहरा

श्री अनुज महेरा महिन्द्रा रूरल हाउसिंग फायनांस लिमिटेड (एमआरएचएफएल) के मैनेजिंग डाइरेक्टर हैं, जो हाउसिंग फायनांस लोन्स के बिज़नेस में हैं। फंक्शनल क्षेत्रों में हर तरह के अनुभव और फायनांशियल सर्विसेज़ सेक्टर में 16 वर्षों के अनुभव के साथ श्री मेहरा ने अपना सफर 2007 में महिन्द्रा रूरल हाउसिंग फायनांस लिमिटेड में चीफ एक्ज़ीक्यूटिव ऑफिसर के रूप में शुरू किया।

दिल्ली यूनिवर्सिटी से बी.ए. ऑनर्स (इकनॉमिक्स) के डिग्री धारक, श्री मेहरा ने अपना पोस्ट ग्रैजुएशन 1982 में इंडियन इंस्टीट्रयूट ऑफ मैनेजमेंट, अहमदाबाद से पूरा किया। उन्होंने अपना कैरियर लॅक्मे लिमिटेड (सेल्स व मार्केटिंग में) से शुरू किया जहां वे लगभग 7 वर्षों तक रहे फिर थोड़े समय के लिए लॅक्मे लिमिटेड के फार्मास्यूटिकल डिवीज़न के ऑल इंडिया सेल्स मैनेजर का पदभार संभाला। उसके बाद उन्होंने फायनांशियल सर्विसेज सेक्टर में में प्रवेश किया जब वे आईटीसी क्लासिक फायनांस लिमिटेड में शामिल हुए, जहां कम्पनी में अपने कार्यकाल के दौरान, उन्होंने रीजनल मैनेजर, जनरल मैनेजर (पश्चिम) और असिस्टेंट वाइस प्रेसिडेंट का पदभार संभाला। महिन्द्रा जेस्को डेवलपर्स लिमिटेड ज्वॉइन कर मार्केटिंग पोर्टफोलियो की जिम्मेदारी लेने से पहले उन्होंने वाइस प्रेसिडेंट के रूप में 20 सेंचुरी फायनांस कॉर्पोरेशन में और सेंचुरियन बैंक लिमिटेड में भी काम किया जहां उन्होंने विभिन्न चुनौतीपूर्ण कार्यों का उतरदायित्व सफलतापूर्वक वहन किया।

डॉ. जयदीप देवारे

डॉ. जयदीप देवारे कम्पनी के गठन, संचालन और प्रबंधन के लिए जिममेदार रहे हैं। डॉ. देवारे महिन्द्रा बिज़नेस एंड कंसल्टिंग सर्विसेज़ प्रा. लि., महिन्द्रा एंड महिन्द्रा फायनांशियल सर्विसेज़ लि. की एक पूर्ण स्वामित्व वाला उपक्रम, के निदेशक भी हैं।

डॉ. देवारे प्रॉडक्शन इंजीनियरिंग में ऑनर्स के साथ बैचेलर ऑफ इंजीनियरिंग (बी. ई.) डिग्री धारक हैं, फायनांस में विशिष्टता के साथ मास्टर्स ऑफ मैनेजमेंट स्टडीज़ (एम.एम.एस.) डिग्री धारक, इंश्योरेंस इंस्टीट्यूट ऑफ इंडिया से लाइसेंशिएट (एल. आई.आई.आई.) और इंडियन इंश्योरेंस प्राइवेट सेक्टर ज्वाइंट वेंचर्स पर थीसिस के साथ डॉक्टरेट ऑफ फिलॉसफी (पीएच. डी.) हैं।

डॉ. देवारे ने 1992 में कॉर्पोरेट अफेयर्स में महिन्द्र एंड महिन्द्रा ज्वाइन किया और उन्हें महिन्द्रा समूह में विभिन्न क्षेत्रों में अच्छा अनुभव है। उनके विभिन्न कार्यभार में फोर्ड मोटर कम्पनी को भारत में पैर जमाने के लिए ज्वाइंट वेंचर के रूप में गठित महिन्द्रा-फोर्ड प्रोजेक्ट का कोर सदस्य होना, एक्ज़ीक्यूटिव एसोसिएट- ऑफिस ऑफ द मैनेजिंग डाइरेक्टर ऑफ महिन्द्रा एंड महिन्द्रा लि. और मैनेजिंग डाइरेक्टर ऑफ महिन्द्रा ऑटो स्पेशियलिटीज़ लि., भारत में कस्टम मेड कारों की डिज़ाइनिंग व मार्केटिंग में अग्रणी कम्पनी शामिल हैं।

श्री रजनीश अग्रवाल

श्री रजनीश अग्रवाल लखनऊ यूनिवर्सिटी से विज्ञान के स्नातक हैं और मुम्बई यूनिवर्सिटी से उन्होंने मैनेजमेंट स्टडीज़ में मास्टर्स डिग्री ली है. वे संचालन समिति के सदस्य भी हैं और महिन्द्रा बिज़नेस एंड कंसल्टिंग सर्विसेज़ प्राइवेट लिमिटेड में निदेशक हैं।

उन्हें रीटेल क्रेडिट ऑटो लोन्स, ऍसेट रिस्क मैनेजमेंट, रूरल मैनेजमेंट, बिज़नेस एंड प्रॉडक्ट डेवलपमेंट, चैनेल व रिलेशनशिप मैनेजमेंट के साथ पीपुल मैनेजमेंट में 21 वर्ष से अधिक का अनुभव है।

उन्होंने इंडियन इंस्टीट्यूट ऑफ मैनेजमेंट-बंगलोर और इंडियन इंस्टीट्यूट ऑफ मैनेजमेंट-कलकता जैसे प्रतिष्ठित संस्थानों से जनरल मैनेजमेंट और बिज़नेस लीडरशिप में शार्ट टर्म कोर्स भी किया है।

  • श्री सी. बी. भावे
  • श्री धनंजय मुंगाले (अध्यक्ष)
  • श्री एम. जी. भिड़े
  • श्री पीयूष जी मांकड़
  • सुश्री रमा बीजापुरकर
  • श्री वी.एस. पार्थसारथी
  • डॉ. अनीश शाह
  • श्री पीयूष जी मांकड़
  • श्री एम. जी. भिड़े
  • श्री धनंजय मुंगाले
  • श्री सी. बी. भावे
  • श्री वी.एस. पार्थसारथी
  • सुश्री रमा बीजापुरकर
  • श्री एम. जी. भिड़े
  • श्री रमेश अय्यर
  • श्री वी. रवि
  • श्री एम. जी. भिड़े
  • श्री धनंजय मुंगाले
  • श्री रमेश अय्यर
  • श्री वी.एस. पार्थसारथी
  • श्री वी. रवि
  • श्री पीयूष जी मांकड़
  • श्री वी. रवि
  • श्री रमेश अय्यर
  • डॉ. अनीश शाह
  • श्री सी. बी. भावे
  • श्री धनंजय मुंगाले
  • श्री एम. जी. भिड़े
  • सुश्री रमा बीजापुरकर
  • श्री वी.एस. पार्थसारथी
  • श्री पीयूष जी मांकड़
  • श्री एम. जी. भिड़े
  • श्री धनंजय मुंगाले
  • श्री वी.एस. पार्थसारथी
  • डॉ. अनीश शाह
  • श्री रमेश अय्यर

    प्रबंध निदेशक

  • श्री वी. रवि

    चीफ फायनांशियल ऑफिसर

  • श्री विनय देशपांडे

    चीफ पीपल ऑफिसर

  • श्री आर. बालाजी

    वाइस प्रेसिडेंट-मार्केटिंग एंड स्ट्रैटेजी

  • श्री अनुज मेहरा

    सीईओ, एमआरएचएफएल

  • डॉ. जयदीप देवारे

    मैनेजिंग डाइरेक्टर, MIBL

  • श्री रजनीश अग्रवाल

    वाइस प्रेसिडेंट-ऑपरेशंस

Please rotate your IPAD to Landscape Mode.